Sunday, March 30, 2008

समीर की मज़ेदार बातें

समीर आजकल खूब सारी नई बातें सीख गया है। आजकल उसको ताली बजाने में खूब मज़ा आता है। कुछ भी कहो, ताली बजाने लगता है। ताली बजाना उसने अपने birthday पर शुरू किया था। फिर उससे पूछो कितना बड़ा, तो फिर मेरी या राहुल की ऊँगली पकड़ कर हमारा हाथ उठा देता है। आज सुबह एक बार उसने अपना हाथ उठा कर दिखाया था कितना बड़ा, पर उसके बाद से फिर से वही शुरू, हमारा हाथ उठा देता है दिखाने को।

कल से इसने एक नई चीज़ सीखी है -- पुच्ची करना। उस से कहो की kiss करो mumma को या papa को तो फिर अपने होंठ हमारे गाल पर लगा देता है, गीले गीले।

अब तो उसने चलना भी शुरू कर दिया है। खूब मटक मटक के इधर से उधर चक्कर लगाता रहेगा सारे घर में। बस इसको बोलना या इशारा करना आ जाए जल्दी से तो अच्छा रहेगा। कई बार जब इसे कुछ चाहिए होता है तो आवाज़ देता रहेगा ज़ोर शोर से, पर हमें कई बार time लग जाता है समझने में की यह कह क्या रहा है। कल जब मैं संतरा खा रही थी, तो इसे भी खाना था। पर मुझे जब तक समझ में आया, मैं करीब करीब पूरा खा चुकी थी :-)

यह एक और नई बात है इसकी। जो भी हमारे हाथ में देखेगा, इसे चाहिए। इसको वही चीज़ दो खाने को, तो भी हमारे हाथ में जो है वो ही खाएगा। आज आम काटकर रखे थे इसके आगे। राहुल इसके साथ बैठ कर खा रहे थे एक फाँक इसके हाथ में थी और एक राहुल के हाथ में। समीर ने चैन नही लिया जब तक राहुल ने अपनी फाँक उसको नहीं दे दी। उस समय तो हमें हँसी आ रही थी, पर बाद में लगा की हँसना ठीक नहीं है ऐसे में। उसे समझाना होगा की वो औरों की चीज़ें नहीं छीन सकता। पूछ सकता है अगर कुछ चाहिए, पर ज़बर्दस्ती नहीं ले सकता।

7 comments:

aindrayan said...

Aaj yeh blog dekhkar to maza aa gaya. I just could not stop myself from passing comments ;-). One, this is in Hindi, and you know how accurately can we describe ourselves in our own language. Doosre, isme itni majedaar baatein bhi hain. Kitna bara aur pyari si puchchi--how exciting. We are just waiting for a day when we meet him personally and enjoy all this first hand. God bless our dear Sameer.

Haan, ek baat aur. I think it is natural for a child to seek what others have in hand. It certainly not CHHINNA--not even desiring what others have. This child is too innocent for this.

~ Dadu

~nm said...

So very sweet!

And his Dadu has rightly said so. He's too small a baby. He is way beyond such worldly misdeeds. And let him be that way. This is just his way to emote his feelings.

Big puchha to betu ram!

PG said...

A very sweet post! And i can only epeat what his dadu has said this is very normal what he is doing, wanting to hav that in your hand and very sweet too! Lots of puchchas to him.

Ruchika Indrayan said...

I'm glad all of you gave us some good advice on the last bit. I guess, a first child always has it tougher than teh next ones, what with disciplining and rules etc.

Emaan said...

hi aunty.. u seem to have a very nice baby.. and surely he would love to be my friend, cos im a nice baby too :-)

Swati said...

Very lovely post. Its such a amazing feeling when they kiss you ..isn't it. Wait until he kisses you without you demanding for it. You will find yourself on cloud 9. And then , there will be a stage , when he will kiss only when he wants and ignore you , when you ask for it :-)

BTW, hope you know me :)

Ruchika Indrayan said...

Swati: Thanks for the comment. Yes, i do know you. In fact, I have read your blog on Aryan from time to time. You write very well.